एनएससी के बाद अब एनसीएल के सिंगरौली केंद्रीय  चिकित्सालय में शुरू हुआ नया डायलिसिस सेंटर

Spread the love

‘मेडिकल सुविधा’ के क्षेत्र में एनसीएल का सिंगरौली परिक्षेत्र को नई सौगात

सोनभद्र, सिंगरौली /  सिंगरौली परिक्षेत्र में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने के उद्देश्य से भारत सरकार की मिनी रत्न कंपनी  नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड ने अपने मोरवा स्थित  केंद्रीय अस्पताल में एक नया डायलिसिस सेंटर की शुरुआत की है जिसमें 2 मशीनें स्थापित की गई हैं।  बुधवार को, सीएमडी एनसीएल  बी. साईराम ने निदेशक (कार्मिक)  मनीष कुमार, निदेशक (तकनीकी/संचालन)  जितेंद्र मलिक, निदेशक (तकनीकी/परियोजना और योजना)  सुनील प्रसाद सिंह की उपस्थिति में डायलिसिस सेंटर को लोकार्पित किया।

इस अवसर पर सीएमएस,एनसीएल  डॉ विवेक खरे ,महाप्रबंधक (सिविल)  पीके राय, विभागाध्यक्ष, कल्याण  राजेश चौधरी, सीएमएस एनएससी डॉ पंकज कुमार, मुख्यालय स्तरीय जेसीसी सदस्यगण, सिंगरौली केन्द्रीय चिकित्सालय के डॉक्टर, चिकित्साकर्मी और अन्य उपस्थित रहे।

केंद्रीय अस्पताल में स्थापित यह नया डायलिसिस सेंटर सिंगरौली परिक्षेत्र, खासकर मोरवा क्षेत्र और आसपास के गांवों के किडनी रोग के मरीजों को लाभ पहुंचाएगा। डायलिसिस मशीन यूनिट, किडनी के बीमारी से ग्रस्त मरीजों को रक्त शोधन सुविधा प्रदान करने में मदद करती है। एनसीएल के नेहरू शताब्दी चिकित्सालय जयंत (एनएससी) में पहले से ही 8 डायलिसिस मशीनें उपलब्ध हैं। गौरतलब है कि पिछले वित्तीय वर्ष 2023-24 में एनएससी में 1650 से अधिक हेमोडायलिसिस किए गए थे। किडनी की बीमारियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए एनसीएल की यह पहल एनसीएल कर्मचारियों के साथ-साथ स्थानीय लोगों के लिए भी वरदान साबित होगी। एनसीएल अपने तीन अस्पतालों व परियोजनाओं की डिस्पेन्सरी के माध्यम से कर्मियों व हितग्राहियों को बेहतर इलाज मुहैया करवाने हेतु सदैव प्रतिबद्ध है व चिकित्सा के क्षेत्र  में लगातार नवाचारी पहल कर रही है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.